विभागों के कार्यकलाप

अधिकारियों और कर्मचारियों की शक्तियाँ और कर्तव्य (Powers and duties of its officers and employess)

1. सचिव:-
आयोग का सर्वोच्च्च प्रशासनिक अधिकारी होने के कारण समस्त उत्तरदायित्व इस पद में निहित है । शासन द्वारा प्रदत्त अधिकार तथा कर्तव्य निम्नानुसार है।

 अधिकार:-

क.  प्रशासनिक अधिकार :-


   
आयोग में सरकारी कर्मचारियों की नियुकित होने पर कर्मचारी से सक्षम चिकित्साधिकारी द्वारा प्रदत्त स्वस्थता प्रमाण-पत्र प्राप्त करना ।
अधीनस्थ कर्मचारियों के वार्षिक वेतनवृद्धि का अधिकार ।

अवकाश वृद्धि स्वीकृत करने का अधिकार :- यदि सरकारी कर्मचारी उस प्राधिकारी के नियन्त्रण में न रह गया हो जिसने अवकाश स्वीकृत किया था तो इस अधिकार का प्रयोग उस प्राधिकारी द्वारा किया जायेगा ।
आयोग के समस्त कार्यो का सम्पादन एवं मार्ग दर्शन ।
शासन के अपेक्षानुसार विश्लेषणात्मक प्रतिवेदन तैयार करना ।
राज्य सरकार को सामाजिक,  आर्थिक,  विषयों पर सुझाव प्रदान करना ।
कर्मचारियों के स्थायीकरण वेतन निर्धारण वार्षिक वेतन वृद्धि के प्रकरणों का निस्तारण करना ।
कर्मचारियों की सेवा सम्बन्धी विधि प्रकरणों का निस्तारण करना ।

 चिकित्सा प्रमाण पत्र के आधार पर अधिनस्थ सरकारी कर्मचारियों को 45 दिन तक का चिकित्सा अवकाश स्वीकृत करना ।
अधीनस्थ सरकारी कर्मचारियों के व्यकितगत चरित्र के सम्बन्ध में आख्या प्रदान करना ।
 शासन द्वारा आंवटित अन्य कार्यो का सम्पादन करना ।

ख. वित्तीय अधिकार :-

कार्यालय प्रयोग के लिये पुस्तकें, समाचार-पत्र पत्रिका नक्शे तथा अन्य प्रकाशन खरीदना ।
कार्यालय प्रयोग के लिये राजकीय मुद्रण आदि का क्रय करना ।

 निर्धारित सीमा से जी0 पी0 एफ0 से स्थार्इ व अस्थार्इ धनराशि का निष्कासन तथा सेवानिवृत्त होने वाले सरकारी कर्मचारी के जी0 पी0 एफ0 से 90 प्रतिशत धनराशि का निष्कासन की स्वीकृति ।
 निर्धारित सीमा तक अवकाश यात्रा सुविधा की स्वीकृति प्रदान करना ।
उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों का निर्धारित सीमा के अन्दर मानदेय प्रदान करने का अधिकार ।
अधिनस्थ कार्यरत कर्मचारियों के वेतन आदि देयकों का आहरण वितरण का अधिकार ।
कार्यालय प्रयोगार्थ आवश्यकतानुसार पोस्टेज स्टेम्स आदि स्वीकृत करना ।
निर्धारित सीमा के अन्तर्गत कार्यालय संचालन हेतु लेखन सामग्री रबर स्टैम्स के स्थानीय रूप से खरीद स्वीकृत करना

 मृतक सरकारी कर्मचारी के वेतनभत्तों आदि के दावों की वित्तीय नियम संग्रम खण्ड 5 भाग-1 के पैरा 99 में दी हुर्इ शर्त् के अधीन भुगतान स्वीकृत कराना ।
 वित्तीय नियम संग्रहों के अनुसार निर्धारित सीमान्तर्गत अन्य समस्त देयकों का आहरण वितरण का अधिकार ।

ग- कर्तव्य :-


   
आयोग द्वारा सम्पादित समस्त कार्यो  का मार्गदर्शन करना ।
आयोग को प्राप्त शिकायतों का अध्यावधिक अध्ययन एवं उचित कार्यवाही करना ।
आयोग द्वारा की गर्इ सिफारिश को शासनसरकार को प्रभावी कार्यवाही हेतु प्रेषित करना ।
 राष्ट्रीय महत्व के कार्यो में शासन के निर्देशानुसार अपेक्षित कार्यवाही करना ।

यह सुनिशिचत करना कि आयोग द्वारा कार्यो  का सम्पादन समय सारणी के अनुसार किया जाता है तथा गुणात्मक दृष्टि से उनका स्तर अच्छा रहता है ।
विभिन्न स्तरों पर सभी आवश्यक आंकडों के रख रखाव की समुचित तथा ऐसी व्यवस्था करना जिसे आवश्यकता पडनें पर सुगमता से उपलब्ध कराया जा सके ।
आयोग में कार्यरत कर्मचारियों को आवश्यकतानुसार मार्गदर्शन देना ।
आयोग की वार्षिक प्रत्यावेदन रिपोर्ट का प्रकाशन करना ।
 आयोग में नियुक्त मा0 अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं सदस्यगणों की समस्याओं सुझाव आदि को शासन सरकार को अग्रसारित करना ।
आयोग को प्राप्त शिकायती वादों पर मा0 अध्यक्ष के निर्देशानुसार स्थलीय निरीक्षण करना ।

लेखाकार :- मा0 आयोग में लेखाकार का एक पद सृजित है

लेखा सम्बन्धी समस्त कार्यो का सम्पादन करना ।
जी0 पी0 एफ पास बुक का रख-रखाव
सेवापुस्तिका का रख-रखाव
सम्प्रेक्षा कार्य
समस्त कार्मिकों की वयक्तिगत पत्रावलियों का रख-रखाव।
सूचना का अधिकार/सेवा का अधिकार से सम्बन्धित कार्यो का रख-रखाव
वेतन बिल तैयार करना।
अपने कक्ष सम्बनिधत समस्त शासनादेश गार्ड फार्इलअभिलेख तथा पत्रावलियों एवं पंजिकाओ का रख रखाव ।

वै्यक्तिक सहायक :-

प्राप्त शिकायत/वादों को दर्ज करते हुए रख-रखाव करना।
आयोग की बैठकों/भ्रमण कार्यक्रम का कार्यवृत्त तैयार करना।
आयोग के महानुभाव/सदस्यगणों की व्यक्तिगत पत्रावली का रख-रखाव करना।
वार्षिक प्रत्यावेदन रिपोर्ट तैयार करना।
समय-समय पर उच्चाधिकारियों द्वारा सौपें गये अन्य कार्याे का सम्पादित करना।
कर्मचारियों की चरित्र पंजिकाओं का रख-रखाव।
रिट पिटिशन का रख-रखाव

प्रवर सहायक :-

स्थापना से सम्बनिधत कार्य ।
 टकंण का कार्य करना ।
 समय-समय पर उच्चतर अधिकारियों द्वारा आवंटित अन्य कार्य ।
भण्डार पंजिका का रख-रखाव

कनिष्ठ सहायक :-

 टंकण का कार्य करना ।
डाक सम्प्रेषणडाक टिकिटों का रख-रखाव सम्बन्धी कार्य ।
समय-समय पर उच्च अधिकारियों द्वारा आंवटित अन्य कार्य ।

वाहन चालक :-

गाडी लोगबुक का रख रखाव ।
गाडी की मरम्मत सर्विसिंग सम्बन्धी कार्य ।
समय-समय पर उच्च अधिकारियों द्वारा आंवटित अन्य कार्य ।

चतुर्थ श्रेणी :-

 स्थानीय डाक वितरण का कार्य ।
कार्यालय खोलनाबन्द करना, तथा अपनी उपसिथति में कार्यालय परिसर की सफार्इ व्यवस्था करवाना ।
कोषागार में देयकों को प्रस्तुत करना तथा प्राप्त करना ।
कार्यालय में पत्रावलियों आदि को व्यवसिथत करने परिचालन में समस्त कार्मिकों को पूर्ण सहयोग प्रदान करना।
कार्यालय के पोस्ट आफिस सम्बन्धी जैसे रजिस्ट्र, स्पीड पोस्ट, पार्सल आदि समस्त कार्य ।
आयोग में आगन्तुकों के आने पर उचित ढंग से व्यवस्था आदि करना ।
अधिकारियोंकर्मचारियों द्वारा सौंपें गये अन्य समस्त सरकारी कार्य ।

 
 

Uttarakhand Minority Commission

Powered by : Webline

Home | Help | Accessibility Statement | Privacy Policy | Hyper linking Policy | Copyright Policy | Terms & Conditions | Disclaimer